कोण्डागांव जिले के आर्थिक, सामाजिक विकास की रीढ़ साबित होगा मर्दापाल से खालेमुरवेण्ड मार्ग

छत्तीसगढ़ समसामयिक

बियाबान पहाड़ो को काटकर बनाई गई है सड़के
नई सड़क में ग्रामीणों को विकास का संदेश देने के लिए 23 फरवरी को बाईक रैली
रायपुर
राज्य सरकार की मंशा अनुरूप आधारभूत संरचनाओं का विकास प्रदेश के सभी क्षेत्रों में किया जा रहा है। सड़के ग्रामीण जीवन के आर्थिक विकास की रीढ़ होती है वर्षो से रोड कनेक्टिविटी के अभाव मे जिला मुख्यालय कोण्डागांव से अलग-थलग पहाड़ो वनांचलो मे बसे लगभग 60 से अधिक ग्राम इस नियति को झेल रहे थे। इन बसाहटो मेे प्राकृतिक अवरोधोे के साथ-साथ असामाजिक तत्वो के दखल भी था जिससे क्षेत्र का विकास अवरूद्ध रहा है। मुख्य सड़को तक यहां से पहुंचने के लिए किसी भी तरह की सड़क सुविधा ना होने से बरसात मे यहां आवागमन मुश्किल था, स्कूली बच्चों को स्कूल जाने तथा बीमार व्यक्ति को अस्पताल ले जाने में मुश्किले होती थी। साथ ही शासन के किसी भी प्रकार जनहितकारी कार्यक्रमो का क्रियान्वयन मे भी परेशानियां थी। परन्तु अब यहां के हालात के पूरी तरह बदलने के आसार है। क्योंकि विकासखण्ड कोण्डागांव के धुर मर्दापाल क्षेत्र से केशकाल विकासखण्ड के तलहटी गांव खालेमुरवेण्ड तक 142 कि0मी तक समानान्तर सड़क का निर्माण शीघ्र ही पूर्णता को प्राप्त होगा। जिससे अब क्षेत्र मे विकास की नयी ईबारत लिखी जायेगी। यह सड़क मर्दापाल के वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित क्षेत्र से गुजरता हुआ एनएच-30 स्थित तलहटी ग्राम खालेमुरवेण्ड को जोडे़गा जिनसे इन दुर्गम क्षेत्र मे बसने वाले लगभग 50 हजार आबादी निर्बाध रूप से आवागमन कर सकेगी और शासकीय योजनाओ का सफल क्रियान्वयन संबंधित क्षेत्र के गांवों में हो सकेगा।
विकास की धुरी से जुड़ने वाले ग्रामो एंव सड़को का लेखा जोखा
पीएमजेएसवाय विभाग से प्राप्त जानकारी अनुसार निर्माणाधीन सड़को मे मर्दापाल से बयानार से भाटपाल सड़क (कुल लम्बाई 42.50 कि.मी) लाभान्वित ग्राम मर्दापाल, रानापाल, नवागांव, लखापुरी, मलनार, नहाकानार, चेमा, अदनार, मुंगवाल, चेरगं, टुमरूगांव, चलका, चिमड़ी, मुरनार, भाटपाल, भाटपाल से खासपारा (कुल लंबाई 0.60 कि.मी), खासपारा भाटपाल से मोड़ेगां (कुल लंबाई 8.80 कि.मी लाभान्वित गांव कुम्हारपारा, चियांनार, बोरण्ड मोड़ेगा), मोड़ेगां से पलना (कुल लंबाई 3ू कि.मी), पलना से चिंगनार ((कुल लंबाई 4.30 कि.मी, लाभान्वित ग्राम उडुगपारा बाथना, चिगनारं ), चिगंनार से रेमापारा (कुल लंबाई 1.40 कि.मी), रेमापारा चिगंनार से भोंगापाल (कुल लंबाई 40 कि.मी, कसई फरसगांव, अजवाल, झाकरी), भोगांपाल से बड़गई (कुल लंबाई 5 कि.मी लाभान्वित ग्राम बण्डापाल, बड़गई, बारदा), बड़गई से कोनगुड (कुल लंबाई 6 कि.मी लाभान्वित ग्राम पालपापारा कोनगुड़)़, कोड़गुड़ से चनियागांव (कुल लंबाई 15.80 कि.मी, लाभान्वित ग्राम कोण्डापखना, हॉटचपई, बड़ेओडागांव, फुण्डेर, चनियागांव, बोकड़ाबेड़), चनिया गांव से धनोरा (कुल लंबाई 4.40 कि.मी. लाभान्वित ग्राम खोहड़ापारा, आचलापारा, धनोरा), धनोरा से कारकोटी से चुड़वा (कुल लंबाई 7.20 कि.मी, लाभान्वित ग्राम कोरकोटी से जुनवाला चुड़वा), चुड़ावा से बेड़मामारी चेरबेड़ा मोड़ (कुल लंबाई 5.80 कि.मी, लाभान्वित ग्राम बेड़मामारी, रावबेड़डा, चेरबेड़ा), चेरबेड़ा कुऐं उपरदेंली (कुल लंबाई 8.50 कि.मी लाभान्वित ग्राम कुऐं, मिदरे, उपरचदेंली), उपरचदेंली से खालेचदेंली (कुल लंबाई 3.80 कि.मी, खालेचदेंली (कुल लंबाई 3.80 कि.मी), खालेचदेंली से रांधां (कुल लंबाई 1.40 कि.मी), रांधा नयापारा उपरमुरवेण्ड (कुल लंबाई 4.70 कि.मी) एंव ंउपरमुरवेण्ड से मुरनार तक सड़के बनायी जा रही है।
23 फरवरी को ऐतिहासिक बाइक रैली: ग्रामीणो को विकास मे भागीदारी निभाने के लिए किया जायेगा प्रेरित
जिला प्रशासन द्वारा इस संबंध मे उपरोक्त समस्त नवनिर्मित सड़क मार्गो में 23 फरवरी को वृहद स्तर पर मोटर बाईक रैली का आयोजन किया जा रहा है। जिला कलेक्टर श्री नीलकण्ठ टीकाम नेे बताया कि इस अभिनव बाईक अभियान के जरिये क्षेत्र के ग्रामीणो केा विकास के नये युग का संदेश देने का प्रयास किया जायेगा। साथ ही क्षेत्र के युवाओ मे क्षमता का विकास तथा लीडरशीप विकसित करना, गांव के समस्याओ का अध्ययन कर उनके निदान, खेलो को बढ़ावा, व्यक्तित्व विकास कर एक आदर्श समाज की ओर अग्रसर करना है। इस क्रम मे 23 फरवरी को होने वाली मोटर साईकिल रैली मे 1000 मोटर साईकिलो मे 2000 लोगो की भागीदारी सुनिश्चित होगी। इस आयोजन मे रैली मार्गो से गुजरने वाले ग्रामो केे समस्त महिला स्वसहायता समुह की महिलाये, शिक्षकगण, नर्तकदल, युवाशक्ति, गायता पुजारी और छात्र छात्राये समस्त बाइकर्स का उत्साह वर्धन के लिए मौजुद रहेगें। इसके लिए सम्पर्ण रैली मार्ग मे 8 जगह स्टापेज बनाये गये है जहां पर जलपान, पेयजल इत्यादि की व्यवस्था की जायेगी। साथ ही इस दौरान ग्रामो के गौठान मे महोत्सव आयोजित होगें।
उल्लेखनीय है कि बाइक रैली 23 फरवरी को प्रातः 10 बजे मर्दापाल से प्रारंभ होगी। इसके तहत रैली मे शामिल होने वाले प्रतिभागियो को रानापाल, नवागांव, लखापुरी, मुलनार, नहाकानार, चेमा, अदनार, रेगांगोदीं, बड़को, बयानार, मुंगवाल, चेरंग, टेमरूगांव, चलका, चिमड़ी, मुरवाल भाटपाल, चिंयानार, बोरंण्ड मोेरेगां, पलना, उदुगपारा, कसईफरसगांव, झाकरी, रेमापारा, चिंगनार, रांधना, मिश्री, भोंगापाल, बड़कई, कोनगुड़, फुण्डेर, बड़ेओड़गांव, छोटेओड़ागांव, हाटचपई, कोण्डपखना, कोहड़ापारा, आचला, धनोरा, चेरबेड़ा, चुरावा, आचरापारा, कोरकोटी, कुऐं, उपरचदेली, बावलीमारी, खोड़चदेंली, उपरमुरवेण्ड, राधां होते हुए मुरनार पहुंचना होगा। रैली के दौरान सभी मार्गों में सुरक्षा व्यवस्था के लिए प्रशासन द्वारा व्यवस्था की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *