जल जंगल और पर्यावरण का संदेश देने महानदी मैराथन

छत्तीसगढ़ समसामयिक

15 राज्यों सहित देश-विदेश के तीन हजार प्रतिभागियों ने लगाई दौड़
रायपुर. जल, जंगल और पर्यावरण बचाने का संदेश देने आयोजित किए गए महानदी मैराथन में फिल्म अभिनेता और मॉडल मिलिंद सोमण, के साथ ही स्थानीय युवाओं, खिलाडि़यों, देश-विदेश से आए प्रतिभागियों, छत्तीसगढ़ी फिल्म अभिनेताओं, जन प्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों ने दौड़ लगायी। इस मैराथन में 15 राज्यों सहित देश विदेश के लगभग तीन हजार प्रतिभागी शामिल हुए।
बलौदाजार-भाटापारा जिला प्रशासन द्वारा आज कसडोल- बया रोड पर ग्राम असनीद में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। मैराथन को उत्साह वर्धन के लिए आये फिल्म अभिनेता और मॉडल मिलिंद सोमन, पद्मश्री छत्तीसगढ़ी फिल्म अभिनेता अनुज शर्मा एवं अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी सुश्री नीता डुमरे ने फ्लैग ऑफ कर दौड़ का शुभारंभ किया। मैराथन स्कार्ट करने के लिए इसके आगे-आगे रॉयल स्पोर्ट्स बाइक रायडर चल रहे थे।
मुख्य अतिथि मिलिंद सोमन ने कहा दौड़ने की कोई उम्र नही होती और न ही संसाधन की जरूरत पड़ती है। उन्होंने आगे कहा जल जंगल, नदी और पर्यावरण हमारे धरोहर हैं। अगर इनका स्वास्थ्य अच्छा रहा तो हमारा भी शरीर स्वस्थ रहेगा। इसलिए इन्हें बचाने की जिम्मेदारी हम सबकी है। बलौदाबाजार-भाटापारा जैसे छोटे जिले में इस तरह कार्यक्रम करना काबिले तारीफ है।
इस मैराथन को लेकर लोगों में सुबह से ही उत्साह देखा गया। लोगों ने जुम्बा में थिरकते हुए सायन द बैंड का खूब आनंद लिया। इस अवसर पर कसडोल विधायक शकुंतला साहू, बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव राय, जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा, जिला कलेक्टर कार्तिकेया गोयल, पुलिस अधीक्षक नीतू कमल, एडीजे प्रफुल्ल सोनवानी, अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक जिला पंचायत सीईओ आशुतोष पाण्डेय ने भी दौड़ लगाकर प्रतिभागियों को उत्साहित किया।
पदम् श्री सम्मान से सम्मानित अनुज शर्मा ने जिला प्रशासन को इस तरह अभिनव और रोचक प्रयास के लिये धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा आगे भी प्रतिवर्ष महानदी मैराथन जरूर होना चाहिए। यह ऐतिहासिक रहा है। पूर्व अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी नीता डुमरे कहा कि इतने सारे लोगों का इस आयोजन में शामिल होकर पर्यावरण और महानदी को बचाने के लिए सन्देश दिया है वह प्रशंसनीय है।
लगभग 21 किलोमीटर की दौड़ में पुरुष वर्ग में प्रथम पुरस्कार रणजीत कुमार भिलाई, दूसरा पुरुस्कार केन्या के शिनिन कृपलाँधि, तृतीय पुरस्कार युधिष्ठिर कुमार मिला। महिला वर्ग में प्रथम पुरस्कार केन्या की नैरोबी ,दूसरा पुरुस्कार जेकलिन, तृतीय पुरस्कार विमला पटेल को मिला। विजेताओं को क्रमशः 1लाख, 51 हजार,21 हजार राशि का पुरस्कार दिया गया। दस किलोमीटर दौड़ पुरुष वर्ग में प्रथम पुरस्कार विष्णु वीर सिंह, दूसरा पुरुस्कार श्रवन कुमार, तृतीय पुरस्कार गुलाब निषाद को तथा महिला वर्ग में प्रथम पुरस्कार डिम्पल सिंह, दूसरा पुरुस्कार तेजश्री, तृतीय पुरस्कार सीमा को मिला। इन्हें क्रमशः 31 हजार,15 हजार, 7 हजार 5 सौ राशि का पुरस्कार दिया गया। पांच किलोमीटर दौड में पुरुष वर्ग में प्रथम पुरस्कार गुलाल, दूसरा पुरुस्कार बृजेश कुमार, तृतीय पुरस्कार आरिफ ने प्राप्त किया। महिला वर्ग में प्रथम पुरस्कार सुनीता कुमारी, दूसरा पुरुस्कार प्रियंका निषाद, तृतीय पुरस्कार केन्या की जोमनी खाका को मिला। इन्हें क्रमशः 21 हजार, 11 हजार, 7 हजार एक सौ रूपए राशि दी गई।
मैराथन में विशेष दृष्टि बाधित के लिए आयोजित की गई एक किलोमीटर का दौड़ में पुरूष वर्ग में प्रथम पुरस्कार रामकुमार बंजारे, दूसरा पुरुस्कार राकेश धुव्र, तृतीय पुरस्कार नुकुल वर्मा को मिला। महिला वर्ग में प्रथम पुरस्कार उर्मिला यादव, दूसरा पुरुस्कार चौतीबाई, तृतीय पुरस्कार मालती साहू ने प्राप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *