राज्यपाल ने राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को भेजी गोबर और बांस से बनी राखी

छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़

कोरोना काल में स्थानीय उत्पादों और नवाचार को प्रोत्साहित करने का किया आह्वान
रायपुर/ राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके आज लोक संस्कृति मंच राष्ट्रगाथा संस्था द्वारा ‘‘स्नेह बंधन त्यौहार और संस्कृति-स्वास्थ्य-स्वरक्षा’’ विषय पर आयोजित वेबिनार में शामिल हुई। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि रक्षा बंधन का पर्व भाई और बहन के मध्य प्रेम का प्रतीक है। इस अवसर पर भाई बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। इस कोरोना के संक्रमण के समय यह पवित्र त्यौहार आया है। इस अवसर पर यह प्रयास करना है कि अपने उत्साह में कोई कमी न आने दें, पर हम त्यौहार मनाते समय विशेष सावधानी रखें। साथ ही कोरोना वायरस से रक्षा करने का संकल्प लें। उन्होंने सभी को रक्षा बंधन की शुभकामनाएं भी दी। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को स्थानीय उत्पादों और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए आदिवासी एवं ग्रामीण महिलाओं द्वारा बनाई गई गोबर और बांस की राखी भेजी है। प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर भारत बनाने के संकल्प लेने का आह्वान किया है। इस कोरोना काल में हमें स्थानीय स्तर पर बनाए गए उत्पादों को बढ़ावा देना चाहिए, ताकि हमारी अर्थव्यवस्था सशक्त हो सके।
राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि जान है तो जहान है। हम सबको कोरोना वायरस के संक्रमण से सावधान रहने की आवश्यकता है। राज्यपाल ने कहा कि रक्षाबंधन हमारे प्रमुख त्यौहारों में से एक है। यह स्नेह का, प्यार का आर्शीवाद का, रक्षा के वादे का बंधन है। हमारी संस्कृति ही वसुधैव कुटुम्बकम की है। सर्वे भवन्तु सुखिनः की है। हमारी परम्परा हमें सिखाती है कि सभी कल्याण हो और सभी स्वस्थ और सुखी रहें।
उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व कोरोना के वायरस के संक्रमण से जुझ रहा है। यह त्यौहार रक्षा का त्यौहार है अतः हम इस अवसर पर कोरोना वायरस से रक्षा करने का संकल्प लें। कोशिश करें भीड़ वाली जगह पर ना जाए और आपस में मिलते समय मास्क का जरूर उपयोग करें।
राज्यपाल ने कहा कि हमारे डॉक्टर्स, पुलिस कर्मचारी, प्रशासन के लोग, सैनिक सभी बहुत मेहनत से सबकी सुरक्षा के लिए काम कर रहे है। हमारी थोड़ी भी लापरवाही हमें कई मुसीबतों का सामना करवायेंगी। आप सब प्रसन्न रहें, स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और यह वायरस जो दिखता नहीं है लेकिन हम सब को इससे लड़कर जीतना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *