संविधान निर्माण के महत्वपूर्ण तथ्य

विशेष

# 9 दिसंबर, 1946 ई० को संविधान सभा की प्रथम बैठक नई दिल्ली स्थित काउंसिल चैम्बर के पुस्तकालय भवन में हुई. सभा के सबसे बुजुर्ग सदस्य डॉ. सच्चिदानंद सिन्हा को सभा का अस्थायी अध्‍यक्ष चुना गया.

# मुस्लिम लीग ने बैठक का बहिष्‍कार किया और पाकिस्तान के लिए बिलकुल अलग संविधान सभा की मांग प्रारम्भ करदी.  हैदराबाद एक ऐसी रियासत थी, जिसके प्रतिनिधि संविधान सभा में सम्मिलित नहीं हुए थे.

# 11 दिसंबर, 1946 . को डॉ राजेंद्र प्रसाद संविधान सभा के स्थाई अध्यक्ष निर्वाचित हुए.

# संविधान सभा की कार्यवाही 13 दिसंबर, 1946 . को जवाहर लाल नेहरू द्वारा पेश किए गए उद्देश्य प्रस्‍ताव के साथप्रारम्भ हुई.

# 22 जनवरी, 1947 . को उद्देश्य प्रस्ताव की स्वीकृति के बाद संविधान सभा ने संविधान निर्माण हेतु अनेक समितियांनियुक्त कीं. इनमे प्रमुख थीवार्ता समिति, संघ संविधान समिति, प्रांतीय संविधान समिति, संघ शक्ति समिति, प्रारूपसमिति.

# बी. एन. राव द्वारा किए गए संविधान के प्रारूप पर विचारविमर्श करने के लिए संविधान सभा द्वारा 29 अगस्त, 1947 को एक संकल्प पारित करके प्रारूप समिति का गठन किया गया तथा इसके अध्यक्ष के रूप में डॉ भीमराव अम्बेडकर कोचुना गया. प्रारूप समिति के सदस्यों की संख्या सात थी, जो इस प्रकार है:

i. डॉ. भीमराव अम्बेडकर (अध्यक्ष)

ii. एन. गोपाल स्वामी आयंगर

iii. अल्लादी कृष्णा स्वामी अय्यर

iv. कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी
v.
सैय्यद मोहम्मद सादुल्ला

vi. एन. माधव राव (बी.एल. मित्रर  के स्थान पर)

vii. डी. पी. खेतान (1948 . में इनकी मृत्यु के बाद टी. टी. कृष्माचारी को सदस्य बनाया गया). संविधान सभा मेंअम्बेडकर का निर्वाचन पश्चिम बंगाल से हुआ था.

# 3 जून, 1947 . की योजना के अनुसार देश का बंटवारा हो जाने पर भारतीय संविधान सभा की कुल सदस्य संख्या324 नियत की गई, जिसमें 235 स्थान प्रांतों के लिय और 89 स्थान देसी राज्यों के लिए थे.

# प्रारूप समिति ने संविधान के प्रारूप पर विचार विमर्श करने के बाद 21 फरवरी, 1948 . को संविधान सभो को अपनीरिपोर्ट पेश की.

# संविधान सभा में संविधान का प्रथम वाचन 4 नवंबर से 9 नवंबर, 1948 . तक चला. संविधान पर दूसरा वाचन 15 नवंबर 1948 ई० को प्रारम्भ हुआ, जो 17 अक्टूबर, 1949 ई० तक चला. संविधान सभा में संविधान का तीसरा वाचन 14 नवंबर, 1949 ई० को प्रारम्भ हुआ जो 26 नवंबर 1949 ई० तक चला और संविधान सभा द्वारा संविधान को पारित करदिया गया. इस समय संविधान सभा के 284 सदस्य उपस्थित थे.

# संविधान निर्माण की प्रक्रिया में कुल 2 वर्ष, 11 महीना और 18 दिन लगे. इस कार्य पर लगभग 6.4 करोड़ रुपये खर्च हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *