29 अगस्त : राष्ट्रीय खेल दिवस , हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद का जन्मदिन

विशेष

दुनिया भर में ‘हॉकी के जादूगर’ के नाम से प्रसिद्ध भारत के महान् व कालजयी हॉकी खिलाड़ी ‘मेजर ध्यानचंद सिंह’ जिन्होंने भारत को ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक दिलवाया, उनके प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए उनके जन्मदिन 29 अगस्त को वर्ष 2012 में भारत सरकार राष्‍ट्रीय खेेल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया था। इस दिन को खेलों के क्षेत्र मेंं अपना अहम योगदान देने वाले खिलाडियों को भारत के राष्‍ट्रपति भवन मेंं राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित करते हैं,

जिसमें राजीव गांधी खेल रत्नध्यानचंद पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कारों के अलावा तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार, अर्जुन पुरस्कार प्रमुख हैं। इस अवसर पर खिलाड़ियों के साथ-साथ उनकी प्रतिभा निखारने वाले कोचों को भी सम्मानित किया जाता है। इसके अतिरिक्त् लगभग सभी भारतीय स्कूल और शिक्षण संस्थान ‘राष्ट्रीय खेल दिवस’ के दिन अपना सालाना खेल समारोह आयोजित करते हैं।

मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त सन्‌ 1905 ई. को इलाहाबाद में हुआ था। अपने खेल कैरियर के दौरान बतौर कप्तान ध्यानचंद ने हॉकी में भारत को 3 ओलंपिक स्वर्ण पदक वर्ष 1928, 1932, 1936 में दिलाये। हॉकी खेल में उनके अद्वितीय योगदान के लिए उन्हें पद्म भूषण पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उन्होंने अपने 22 साल के कैरियर में 400 से अधिक गोल किए। 1936 के बर्लिन ओलंपिक के फाइनल के दौरान चंद के 3 गोलों की मदद से भारतीयों ने जर्मनी को 8-1 से आसानी से हरा दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *