भारत की महान पुत्री भगिनी निवेदिता-28 अक्तूबर/जन्म-दिवस

  स्वामी विवेकानन्द से प्रभावित होकर आयरलैण्ड की युवती मार्गरेट नोबेल ने अपना जीवन भारत माता की सेवा में लगा दिया। प्लेग, बाढ़, अकाल आदि में उन्होंने समर्पण भाव से जनता की सेवा की। 28 अक्तूबर, 1867 को जन्मी मार्गरेट के पिता सैम्युअल नोबल आयरिश चर्च में पादरी थे। बचपन से ही मार्गरेट नोबेल की रुचि […]

Continue Reading

विकास परख अक्टूबर अंक प्रकाशित

सम्पादकीय / आलेख प्रतियोगिता की तालाबंदी देश में कोरोना संक्रमण के चलते मार्च के अंतिम सप्ताह से मई मध्य तक पूर्ण लॉकडाउन (तालाबंदी) केंद्र सरकार द्वारा किया गया। इस तालाबंदी मुख्य कारण था, पहला इस संक्रमण या महामारी को लेकर जनता के बीच जागरुकता की कमी और खतरे से अंजान होना था और दूसरी बात […]

Continue Reading

गोधन न्याय योजना अच्छी, पर राह कच्ची

शशांक-शर्मा-रायपुर छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार ने महत्वाकांक्षी गोधन न्याय योजना की घोषणा की है जिसे हरेली के पावन दिवस से प्रारंभ की जाएगी। योजना के संबंध में दिशानिर्देश भी शासन ने जारी कर दिया है। यह देश में गौवंश के संरक्षण और पशुपालकों की सहायता के लिए अच्छी सोच का परिणाम है। लेकिन जैस शासकीय […]

Continue Reading

अदम्य साहस और आत्मविश्वास से बनते है ‘अजीत’ जोगी

शशांक शर्मा, रायपुर छत्तीसगढ़ राज्य के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से देश की राजनीति का एक सितारा टुट गया है। अल्बर्ट आइंस्टीन ने महात्मा गांधी के बारे में कहा था कि हाड़ मांस का कोई व्यक्ति इस धरती पर जन्म लिया था, आने वाली पीढ़ी को यह विश्वास करना मुश्किल होगा जबकि यह […]

Continue Reading